Arohi Today News

Breaking News in Hindi

घरों में घुसा बाढ़ का पानी, ग्रामीण क्षेत्रों में बरपा रहा कहर

फर्रुखाबाद,आरोही टुडे न्यूज़

तहसील अमृतपुर क्षेत्र राजेपुर के अंतर्गत घरों में गंगा राम गंगा का घुसा बाढ़ का पानी जिसमें लोगों को आशियाना वह कर चल दिया जलस्तर ग्रामीण क्षेत्रों में कहर बरपा रहा है। तेजी से बढ़ते जलस्तर से नदी के किनारे ग्रामीण क्षेत्रों के गांव में दहशत सी फैल गई है। ग्रामीण अंचलों मैं दूर दूर तक जहां भी देखो पानी ही पानी नजर आ रहा है। गंगा नदी भी किनारे के गांव में पहले ही बहुत अधिक कटान कर चुकी हैं और अब रामगंगा की जब तेजी से बढ़ने लगे हैं तो यहां भी किनारे के गांव में कटान होना स्वभाविक हो गया है । राम गंगा के किनारे बसे गांव कटान की जद में आ चुके हैं।

अमृतपुर क्षेत्र के कई गांव रामगंगा की बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है। गुडेरा, चपरा ,भावन खाकिन, रुलापुर ,अमैयापुर, वजीरपुर ,कोलासोता ,अहलादपुर भटौली, बिरसिंहपुर ,बीरपुर नगरिया जवाहरपुर कुसुमपुर, बरुआ कंचनपुर सबलपुर जोगराजपुरआदि दर्जनों ऐसे गांव है जो इस समय बाढ़ से पूरी पूरी तरह भरे हुए हैं। वहीं गंगा नदी के भी पूरे वेग से बाद रही है और अमृतपुर क्षेत्र के लगभग पचासों दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी घरों में घुस गया है। बाढ़ की भयंकर विभीषिका से लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त हो चुका है। जहां चारों तरफ ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि पर निर्भर रहने वाले लोगों की फसलें पूर्णतया समाप्त हो चुकी हैं वही जनजीवन पर भी बाढ़ का भयंकर प्रभाव पड़ा है।

अब तो यहां विचारणीय है कि जो लोग पूर्णतया ही खेती पर निर्भर रहने वाले थे और जिन की फसल भी अब पूरी तरह से तबाह हो चुकी है वह लोग अब किस प्रकार से अपने जीवन का गुजर-बसर करेंगे और कैसे अपने परिवार का भरण पोषण करेंगे? चारों तरफ से गांव पानी से भरे हुए हैं हर गांव में लोगों के घरों में बाढ़ का पानी घुसने लगा है और लोग छतों पर रहने के लिए मजबूर है। वजीरपुर उजीरपुर आदि गांव के कई लोग तो अपने अपने घरों को छोड़कर पलायन करने लगे हैं। रविवार को भी गांव में बाढ़ का पानी अत्यधिक बढ़ जाने के कारण वजीरपुर व ऊजीरपुर गांव के लोग पलायन कर कहीं दूसरी सुरक्षित जगह चले गए हैं।अब प्रश्न यह उठता है कि क्या इन लोगों को प्रशासन की तरफ से कोई मदद मिल पाएगी जिससे कुछ हद तक लोगों की परेशानियां कम हो सकें?

अभिषेक तिवारी की रिपोर्ट

122 Views