Download App from

विद्यालय के लिए धार्मिक स्थल जैसा भाव होना चाहिए, एक भी बच्चा स्कूल जाने से न बचे-सीएम योगी

लखनऊ, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 1.91 करोड़ छात्रों के अभिभावकों के बैंक खातों में 1200-1200 रुपये ट्रांसफर किए। यह रुपये इसलिए ट्रांसफर किए गए ताकि स्टूडेंट्स के लिए जूते-मोजे स्कूल यूनिफॉर्म, स्कूल बैग और स्टेशनरी आसानी से खरीदी जा सके। इस मौके पर कायाकल्प विद्यांजलि पोर्टल का अनावरण भी किया गया। साथ ही स्कूल परिसर साफ रखने वाले स्कूलों के प्रिंसिपल और ग्राम प्रधानों को स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार भी दिया गया।
योजना में कुल 2,225.60 करोड़ का खर्च आएगा। समग्र शिक्षा अभियान के तहत 2022-23 के बजट में सरकार ने 166 करोड़ की व्यवस्था बच्चों की स्टेशनरी के लिए की है। इसके अलावा करीब 2200 करोड़ की व्यवस्था छात्रों की यूनिफॉर्म, जूते-मोजे, स्वेटर के लिए की गई है। अभी तक योगी सरकार स्टूडेंट्स को दो जोड़ी यूनिफॉर्म के लिए 600 रुपये, स्कूल बैग के लिए 170 रुपये, जूते मोजे के लिए 125 रुपये और स्वेटर के लिए 200 रुपये दे रही थी।
यानी कुल मिलकर 1100 रुपये लाभार्थियों को दिए जाते थे। इसमें से 600 रुपये केंद्र सरकार और 500 रुपये राज्य सरकार अपने बजट से देती है। इस बार इस राशि को बढ़ाकर 1200 रुपये कर दिया गया है। इसमें 100 रुपये की राशि स्टेशनरी के लिए सुनिश्चित की गई है।
इस मौके पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने 1.62 लाख शिक्षकों की भर्ती की। ऑपरेशन कायाकल्प से विद्यालयों की तस्वीर बदली। बड़े पैमाने पर बच्चे नंगे पैर स्कूल आते थे। अब तस्वीर बदली है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों में आदर का भाव पैदा करना है। देश के प्रति जिम्मेदारी का भाव भी पैदा करना है। विद्यालय के लिए धार्मिक स्थल जैसा भाव होना चाहिए। एक भी बच्चा स्कूल जाने से न बचे।

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल