Download App from

बालकृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन करते हुए: अनूप ठाकुर महाराज

जिला हरदोई के ग्राम मिरगांवा बिरियानाथ शिव मंदिर पर विशेश्वर सिंह भदौरिया जन कल्याण समिति के तत्वावधान में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के पांचवें दिन असलापुर धाम से पधारें सुप्रसिद्ध कथावाचक अनूप ठाकुर जी महाराज ने श्रीकृष्ण जन्म की मधुर बधाईयों से कथा का शुभारंभ किया। श्रीकृष्ण के जन्म का उत्सव बड़े धूमधाम से कई महीनों तक बृज में मनाया गया। सभी श्रद्धालुने अमीर गुलाल उड़ाते हुए बड़े धूमधाम से नंदोत्सव मनाया भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी दिव्य बाल लीलाओं से बृज के गोपी,ग्वालों को आनंद प्रदान किया। उन्होंने कहा कि माखन चोरी द्वारा हर गोपी के घर में जाकर भगवान उनका मनोरथ पूर्ण करते हैं। भगवान ने बृज में रहते हुए पांच व्रत लिए पहला बृज में कभी केश नहीं कटवाए, दूसरा बृज में कभी सिले वस्त्र नहीं पहने, तीसरा बृज में कभी अस्त्र नहीं उठाए, चौथा बृज में कभी पादुका धारण नहीं की और पांचवां बृज में जब तक रहे तब तक मोर मुकुट के अलावा कोई मुकुट धारण नहीं किया, भगवान की बाल लीलाओं, पूतना-मोक्ष, तृणावर्त उद्धार, नामकरण संस्कार, माखन चोरी लीला आदि की कथा विस्तार से सुनाई ! कथा श्रवणार्थ स्वामी नारेन्द्रगिरि महाराज परिक्षित उमेश सिंह भदौरिया सपत्नीक, कृपाल सिंह भदौरिया, विनय प्रताप सिंह विनीत, दीपू सिंह भदौरिया, अचल भदौरिया, मोहन भदौरिया, होरीलाल भदौरिया, राजीव भदौरिया, संजय भदौरिया, अनुज भदौरिया, रज्जन अग्निहोत्री, वीरेंद्र अग्निहोत्री, सुनील भदौरिया, रामवीर यादव, नवीन भदौरिया, शिवम भदौरिया, दुर्गेश तोमर, कल्लू सिंह, आदि बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहें

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल