Download App from

अज्ञात चोरों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक आरी के सहारे लाखों रुपए की कीमत के सागौन के पेड़ काटे

शमशाबाद ,फर्रुखाबाद,आरोही टुडे न्यूज 

शमसाबाद थाना क्षेत्र के ग्राम रजलामई में जहां बीते दिवस की रात्रि अज्ञात चोरों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक आरा मशीनो के सहारे लाखों रुपए की कीमत के सागौन के पेड़ चोरी से काट लिए गए । घटना की जानकारी उस वक्त हुई जब गुरुवार की सुबह ग्रामीण शौच क्रिया के लिए खेतों की ओर से जा रहे थे । जब ग्रामीणों ने लगभग आधा दर्जन सागौन के पेड़ों को कटी अवस्था में देखा तो ग्रामीणों के होश उड़ गए । शमशाबाद थाना क्षेत्र के ग्राम रजला मई निवासी पूर्व शिक्षक शिवराज सिंह गंगवार पुत्र भभूति प्रसाद गंगवार जो वर्तमान में कानपुर में पुत्र के यहां रह रहे हैं । बताया गया है एक बेटा पीडब्ल्यूडी विभाग में इंजीनियर है । बीमार होने के कारण लंबे समय से बेटे के पास रहे हैं । खेती गांव नगला सेठ निवासी नीलेश कुमार राजपूत द्वारा बटाई पर की जा रही है । बताया गया है उनके खेत तथा बाग रजलामई तथा नगला सेठ के मध्य एक नलकूप के निकट है । बाग में आम के पेड़ों के अलावा लगभग आधा सैकड़ा सागौन के पेड़ हैं । बीते दिवस की रात्रि अज्ञात चोरों द्वारा इलेक्ट्रानिक आरा मशीनों के जरिए भारी भरकम पांच पेड़ों को काट दिया गया । जिन्हे किसी अज्ञात लोडर के सहारे ले जाया गया । मगर एक पेड़ जिसे काटकर नहीं ले जा सके। उसे बही छोड़कर चले गए । घटना की जानकारी उस वक्त हुई जब ग्रामीण खेतों की ओर गुजर रहे थे । जब कटे हुए पेड़ तथा किसी अज्ञात वाहन के पहिए के निशान देखे तो उन्हें पूरा यकीन हो गया हो न हो किसी अज्ञात शातिर चोर द्वारा सागौन के पेड़ों की कटाई की गई और लोडर के सहारे ले जाया गया । बताते हैं बटाईदार द्वारा सूचना पूर्व शिक्षक को दी गई । जिसपर उन्होंने पुलिस अधीक्षक के पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराते हुए कार्यवाही की मांग की । प्रसासनिक अधिकारियो के आदेशानुसार पुलिस प्रशासन तथा सीओ कायमगंज थानाध्यक्ष शमशाबाद तथा वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे तथा घटना की जांच पड़ताल की । इस चोरी से पहले इसी गांव के निवासी मनीष गंगवार के खेतों से भी चोरों द्वारा कीमती सागौन के पेड़ चोरी से काटकर गायब कर दिए गए थे । कहने को तो जांच भी हुई लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला ।
बीते दिवस की रात्रि आज चोरों द्वारा लाखों रुपए की कीमत के सागौन के पेड़ काट ले जाने की घटना को लेकर ग्रामीण ने आश्चर्य जताते हुए कहा अगर कोई ग्रामीण जरूरत के लिए अपना एक पेड़ भी काटे तो पुलिस विभाग को तत्काल खबर मिल जाती है । बही रात्रि के दौरान अज्ञात चोरों द्वारा भारी भरकम पेड़ काट लिए जाएं तो इसकी सूचना आखिर पुलिस को क्यो नही मिलती है ।

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

× How can I help you?