Download App from

ग्रामीण की हत्या किये जानें के आरोप में पुलिस नें तीन हत्यारोपियों को किया गिरफ्तार

फर्रुखाबाद,आरोही टुडे न्यूज

ग्रामीण की हत्या किये जानें के आरोप में पुलिस नें मृतक के पुत्र की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है| पुलिस नें मामले की तफ्तीश की| तफ्तीश में पुलिस नें तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया |
थाना मऊदरवाजा के ग्राम बिलावलपुर ढकेलापुर निवासी पातीराम की 12 अक्टूबर को थानें में गुमशुदगी दर्ज करायी थी| बीते दिन मऊदरवाजा के नकासा बाजार के पास रेलवे ट्रेक के निकट झाड़ियों में वृद्ध की अस्थिया व उनके कपडे चप्पले, घड़ी, डंडा व बाल बांधने का जूड़ा तथा एक माला बरामद हुई थी| तीसराम पुत्र छेदालाल निवासी कटरी धर्मपुर, रमेश पुत्र रामसनेही निवासी दुइया ढूइया व रामनरेश पुत्र श्रीपाल काशीराम कालोनी हैवतपुर गढ़िया मऊदरबाजा के खिलाफ मृतक के पुत्र अवनीश कुमार नें हत्या का मुकदमा दर्ज किया कराया था | पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही थी|
बुधवार दोपहर एसपी विकास कुमार नें पुलिस लाइन सभागार में हत्या का खुलासा किया| उन्होंने बताया कि तीनों आरोपियों नें ही मिलकर वृद्ध पातीराम की हत्या की है| आरोपी तीसराम नें पुलिस को बताया कि मृतक पूर्व में प्रापर्टी डीलर था बाद में बीते लगभग 10 सालों से वह बाबा हो गया था| उसने बताया कि बाबा पातीराम को सुबह 6 बजे फोन कर अपने समधी हत्यारोपी रमेश कठेरिया के यहाँ मिलने को कहा था| वहीं तीसराम भी आ गया| समधी को रुपयों की जरूरत थी| तो तीसराम नें रुपया देनें का भरोसा दिया था| बाबा पातीराम नवाबगंज किसी से रुपया लेनें के लिए गये| जसमई से टैम्पों पर बैठकर नवाबगंज पंहुचे जहाँ एक व्यक्ति आया और बाबा पातीराम को एक थैली दी| जिसके बाद बाबा पातीराम के साथ आरोपी तीसराम टैम्पों पर बैठकर चुंगी पर आ गये | चुंगी पर ही तीसराम, चैन वाला रामनरेश व समधी रमेश कठेरिया एकत्रित हुए| वहीं पर तीनों नें बाबा की हत्या करनें की योजना बना ली| जिसके बाद बाबा को शराब पिलाकर खुद सभी नें शराब पी| तीसराम नें बाबा से कहा चलो आज अपनी बेटी के घर आवाजपुर में रुक जाते हैं| जिसके बाद चारों टाउन हाल से ई-रिक्शा से जसमई के बाद नखासा बाजार में उतर गये| बाबा काफी नशे में था! जिसके बाद तीनों आरोपियों नें बाबा को पकड़ लिया और रेलवे लाइन पार कर झाड़ियों की तरफ ले गये| आरोपी तीसराम नें पुलिस को बताया कि बाबा को चैन वाले रामरमेश व समधी रमेश नें पकड़ लिया| जिसके बाद तीसराम नें रस्सी से बाबा गला कसा लेकिन उसकी मौत नही हुई| जिसके बाद पास पड़ी ईंट से उसके सिर को कुचल दिया| जिसके बाद उसकी मौत हो गयी| जिसके बाद मृतक की सदरी की जेब से पन्नी निकाली उसमे 70 हजार रूपये निकले| वह रूपये अपने पास रख लिए और रामनरेश को 200 व समधी रमेश को 500 रूपये दिया बाद में रूपये बाँटनें का बात कही और शव को झाड़ियों में फेंककर भाग गये| थानाध्यक्ष आमोद कुमार व दारोगा सुहेल खान नें पुलिस टीम के साथ आरोपियों को गिरफ्तार किया|
एसपी नें बताया कि आरोपी तीसराम, रमेश व रामनरेश के पास से आलाकत्ल (ईंट) आदि मृतक की माला, हाथ घड़ी, दो चप्पल,कपड़े, बैंक पास बुक व आधार कार्ड आदि|

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

× How can I help you?