Download App from

परखी गई कोविड प्रबंधन की जमीनी हकीकत,जेडी ने भ्रमण कर देखी कोविड मरीजों के इलाज की तैयारी

 

जेडी ने मेजर कौशलेंद्र सिंह सीएचसी का भ्रमण कर देखी कोविड् मरीजों के इलाज की तैयारी
एसीएमओ ने मोहम्मदाबाद तो डीआईओ ने राजेपुर सीएचसी का किया निरीक्षण

फर्रुखाबाद, आरोही टुडे न्यूज़

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। इसी क्रम में जिले में रविवार को सीएचसी मेजर कौशलेंद्र सिंह, सीएचसी मोहम्मदाबाद और राजेपुर में कोविड से ग्रसित मरीजों के इलाज के लिए बने ऑक्सीजन प्लांट युक्त सभी चिकित्सालयों में मॉक ड्रिल यानि पूर्वाभ्यास किया गया। इस दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों को अस्पताल ले आने से लेकर उन्हें भर्ती कराने तक की प्रक्रिया की जमीनी हकीकत को परखा गया।
इस दौरान संयुक्त निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कानपुर मंडल डॉ सरोज बाला सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अवनींद्र कुमार, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ दीपक कटारिया, डॉ आर सी माथुर ने मेजर कौशलेंद्र सिंह में कोविड से ग्रसित मरीजों के लिए बने 100 बेड के अस्पताल का निरीक्षण किया l अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हनी मल्होत्रा ने मोहम्मदाबाद, डीआईओ डॉ प्रभात वर्मा ने राजेपुर सीएचसी में कोरोना के बढ़ते प्रभाव से निपटने के लिए की गयीं तैयारियों का निरीक्षण किया | उन्होंने यहाँ पर इसका डेमो भी कराया कि अगर कोई कोरोना का केस आता है तो उसका किस तरह से इलाज किया जायेगा | उन्होंने सीएचसी पर लगे आक्सीजन प्लांट आदि का भी निरीक्षण किया |


डॉ सरोज बाला ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए मंडल में सभी जगह पर पीकू वार्ड तैयार हैं| इसके साथ ही पर्याप्त दवा व आक्सीजन का भी इंतजाम कर लिया गया है |
जेडी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि जो भी छोटी मोटी कमियां हैं उनको तुरंत सही किया जाए l
जेडी ने कहा कि यह माक ड्रिल इसलिए की गई अगर कोविड का संक्रमण बढ़ता है तो हम इससे निपटने के लिए कितने तैयार है | अगर कोई कमी रह जाती है तो इसको समय रहते पूरा कर लिया जाये| जिससे संक्रमण बढ़ने पर हम इसको रोकने में और संक्रमित को इलाज देने में कहीं देर न कर दें |
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अवनींद्र कुमार ने बताया कि कोविड को लेकर डरने की जरूरत नहीं है, लेकिन सतर्कता बहुत जरूरी है। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए कोविड समेत अन्य संक्रामक रोगों से बचाव करें। बुखार होने पर खुद को परिवार के अन्य लोगों से अलग कर लें और नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर चिकित्सक से परामर्श लें। चिकित्सक की सलाह पर जांच अवश्य कराएं।
उन्होंने बताया कि कोरोना पर नियंत्रण के लिए विभाग सतर्क है। जिले में इस समय 33 कोरोना के सक्रिय केस हैं। 28 मरीजों को होम आइसोलेट कर देखरेख की जा रही है। शेष मरीजों में 3 अंडर ट्रेसिंग 1 दूसरे जिले में तो एक मरीज मिलेट्री अस्पताल में भर्ती होकर इलाज करा रहा है lइसके साथ ही जिले में प्रतिदिन लगभग 1000 लोगों के नमूने लिए जा रहे हैं।जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा संभावित कोविड लहर से निपटने की पूरी तैयारी कर ली गई है |
साथ ही कहा कि शनिवार को डॉ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय पुरूष , सीएचसी कमालगंज और बरोंन में मॉक ड्रिल कर कोविड संक्रमण से निपटने की तैयारियों को देखा गया जो भी छोटी मोटी कमियां निकली हैं उनके लिए नोडल अधिकारी डॉ सर्वेश यादव को निर्देशित कर दिया गया कि इनको जल्द से जल्द सही कर लिया जाए l
इस दौरान डीपीएम कंचन बाला, फार्मासिस्ट पुनीत मिश्र, विकास और सत्यवीर सिंह आदि मौजूद रहे l

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

× How can I help you?