फर्रुखाबाद, आरोही टुडे संवाददाता
आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आम लोगों के लिए वरदान साबित हो रही है। इस योजना की शुरुआत 23 सितंबर 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी | योजना से आबद्ध जनपद के 11 निजी और 10 सरकारी अस्पतालों में योजना के तहत मुफ्त इलाज का लाभ लिया जा सकता है । योजना के चार साल पूरे होने पर जिलाधिकारी सभागार में शुक्रवार को सांसद मुकेश राजपूत और जिलाधिकारी संजय सिंह द्वारा 10 लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड देकर कार्यक्रम की शुरुआत हुई | इसके बाद योजना के तहत सबसे अधिक लोगों को स्वास्थ्य लाभ देने के मामले में सीएचसी नवाबगंज के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ लोकेश शर्मा, कायमगंज के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ सरवर इकबाल और के पी सिंह अस्पताल के प्रबंधक विमल यादव को प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया गया |
इस दौरान सांसद ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है| इसके तहत कमजोर वर्ग के लोग मुफ्त इलाज करा सकते हैं | इस योजना के तहत आज बहुत से ऐसे लोगों ने मुफ्त इलाज की सुविधा प्राप्त की है, जिनके लिए इलाज का पैसा जुटाना मुश्किल था |
जिलाधिकारी संजय सिंह ने कहा कि अब पात्र लोगों के घर के आस पास ही शिविर लगाकर आयुष्मान कार्ड बनाये जा रहे हैं | सभी से अपील है कि आयुष्मान कार्ड बनवा लें जिससे इस योजना का लाभ उठा सकें |
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अवनीन्द्र कुमार ने कहा कि गरीब परिवार में जहां दो वक्त की रोटी जुटा पाना मुश्किल होता है वहीं कोई अगर गंभीर बीमारी लग जाए तो मरीज का इलाज कराना भी मुश्किल होता है ऐसे में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना किसी वरदान से कम साबित नहीं हुई है l
आयुष्मान भारत योजना के जनपदीय नोडल अधिकारी डॉ रंजन गौतम का कहना है कि ‘आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ के पात्र व्यक्ति जिन्होंने अभी तक आयुष्मान कार्ड न बनवाया हो वह निकट के स्वास्थ्य केंद्र से जरुर बनवा लें और इस योजना का लाभ उठायें |
उन्होने बताया – आयुष्मान भारत योजना के तहत जनपद में अब तक 235514 आयुष्मान कार्ड बनाये जा चुके हैं | साथ ही लगभग 8697 लोगों ने इस योजना के तहत लाभ उठाया है जिसमें सरकार द्वारा लगभग 12 करोड़ रुपए का भुगतान भी किया जा चुका है l
इस दौरान जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ अमित मिश्र, अर्बन हेल्थ समन्वयक राजीव पाठक, रवि पाल सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.