Download App from

ज़िले की स्वास्थ्य इकाइयों पर मनाया गया एकीकृत निक्षय दिवस

फर्रुखाबाद, आरोही टुडे न्यूज़

क्षय रोग , फाइलेरिया और कुष्ठ उन्मूलन को लेकर सरकार गंभीर है। इसी को लेकर हर माह की 15 तारीख को स्वास्थ्य इकाइयों पर एकीकृत निक्षय दिवस मनाया जाता है | इस बार 15 तारीख को रविवार का अवकाश होने के कारण इसे सोमवार को मनाया गया | हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर तैनात सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) ने मरीजों की प्रारम्भिक जांच कर एचआईवी, डायबिटीज और बलगम का नमूना लिया ।सीएचओ और आशा के द्वारा निक्षय दिवस पर मिलने वाली सुविधाओं का प्रचार-प्रसार भी किया गया ।

पहला निक्षय दिवस 15 दिसंबर को मनाया गया था, जिसमें 75 क्षय रोगी चिन्हित किये गए थे l इस बार से इस दिवस में कुष्ठ, फाइलेरिया और कालाजार उन्मूलन अभियान को और जोड़ दिया गया, ताकि एक ही समय में कई बीमारियों का समय से इलाज कर रोगियों को स्वस्थ बनाया जा सके ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ अवनीन्द्र कुमार ने बताया कि शासन के निर्देश पर जनपद के सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, शहरी क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, सिविल अस्पताल लिंजीगंज और डॉ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय में सोमवार को एकीकृत निक्षय दिवस मनाया गया l
सीएमओ ने बताया कि आज निक्षय गतिविधियों के साथ कुष्ठ, फाइलेरिया और कालाजार उन्मूलन गतिविधियों पर ज़ोर दिया गया । इन बीमारियों के रोगियों को चिन्हित कर उन्हें उपचार, परामर्श व आवश्यक दवाएं दी गई ।

इसी क्रम में जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ रंजन गौतम ने सीएचसी राजेपुर, जिला कुष्ठ रोग अधिकारी डॉ हनी मल्होत्रा ने लोहिया अस्पताल, जिला मलेरिया अधिकारी डॉ आर सी माथुर ने सीएचसी मोहम्दाबाद और डीपीसी सौरभ तिवारी ने सीएचसी शमसाबाद और कायमगंज का निरीक्षण कर अधिक से अधिक लोगों को क्षय, कुष्ठ, फाइलेरिया और कालाजार के बारे में जागरूक करने को कहा l हाथी पाँव (फाइलेरिया) के चिन्हित मरीजों को प्राथमिक उपचार के साथ रुग्णता प्रबन्धन एवं दिव्यांगता रोकथाम (एमएमडीपी) किट वितरण और उसके उपयोग के बारे में जानकारी दी गई।

डॉ रंजन गौतम ने बताया कि निक्षय दिवस पर समस्त हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, जिला चिकित्सालय के वाह्य मरीज विभाग (ओपीडी) में आने वाले मरीजों के 10 प्रतिशत मरीजों के बलगम की जांच की गई । डीपीसी सौरभ तिवारी ने बताया कि जिले में करीब 1942 टीबी मरीजों का इलाज चल रहा है। क्षय रोगियों को इलाज के दौरान हर माह 500 रुपए पोषण भत्ता भी मिलता है ।
डीएलओ डॉ हनी मल्होत्रा ने बताया कि ज़िले में 66 कुष्ठ रोगी हैं जिनका इलाज चल रहा है | यह रोग साथ रहने या खाने से नहीं फैलता है l इसलिए हम सभी को कुष्ठ रोगियों से भेदभाव नहीं करना चाहिए ।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ आर सी माथुर ने बताया कि ज़िले में इस समय 1013 फाइलेरिया रोगी हैं l साथ ही कहा आज जिला मलेरिया कार्यालय में पांच फाइलेरिया रोगियों को एमडीपी किट दी गई l अब तक 39 हाइड्रोसील रोगियों की आपरेशन किए जा चुके हैं ।

मोहल्ला यामीन खां के रहने वाले 24 वर्षीय राजीव ने बताया कि मुझे चार- पांच माह पहले फाइलेरिया की शिकायत हुई थी | काफी निजी चिकित्सकों से इलाज कराया पर कोई फायदा नहीं मिला | मलेरिया कार्यालय से दवा मिलने से थोडा-थोडा आराम है| पहले से पैरों की सूजन कम हुई है |

इस दौरान सीएचसी कायमगंज के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ सरवर इकबाल, मोहम्दाबाद के डॉ शोभित शाक्य, राजेपुर के डॉ आरिफ़ सिद्दीकी, बयोलाजिष्ट श्री राम शुक्ल, मलेरिया निरीक्षक अशोक यादव सहित अन्य लोग मौजूद रहे ।

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

× How can I help you?