Download App from

सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर मना अंतराल दिवस, दिए गए मनमुताबिक परिवार नियोजन के साधन

 

फर्रुखाबाद ,आरोही टुडे न्यूज़

परिवार को अपने हिसाब से सीमित रखना आज के समय की जरूरत है l परिवार जितना सीमित होगा उतने ही अच्छे ढंग से परिवार का पालन पोषण हो पाएगा । यह कहना है अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी और आरसीएच के नोडल अधिकारी डॉ दलवीर सिंह का।

डॉ दलवीर ने बताया कि शुक्रवार को जिले के सभी समस्त स्वास्थ्य केंद्रों पर अंतराल दिवस मनाया गयाl उन्होंने बताया कि जो लोग परिवार नियोजन के साधन नहीं अपनाते हैं और कहीं अनचाहा गर्भधारण हो गया तो लोग परेशान होकर गर्भपात कराते हैं l ऐसे में परिवार नियोजन के अस्थाई साधन बेहद उपयोगी है ।

इस मौके पर स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा लोगो को मनचाहे गर्भनिरोधक साधन जैसे- आईयूसीडी, अंतरा इंजेक्शन, छाया गोली, माला-एन व कंडोम का वितरण कर परिवार नियोजन की सेवाएं प्रदान की गईं। साथ ही लोगों को दो बच्चों के जन्म में तीन साल का अंतर रखना है। इससे मां-बच्चे का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा इसके बारे में जागरूक किया गया l

इसी क्रम में सिविल अस्पताल लिंजीगंज में अंतराल दिवस मनाया गया l इस दौरान लोगों को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक किया गया साथ ही उनको मनमुताबिक साधन दिए गए l सिविल अस्पताल के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ अंशुल चतुर्वेदी ने बताया कि इस मौके पर नव विवाहित योग्य दंपति एवं दो या दो से अधिक बच्चों वाले माता-पिता को परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने के प्रति जागरुक एवं प्रेरित किया गया।

लाभार्थियों को उनके पसंदीदा साधन मुहैया कराए गए।

डॉ अंशुल ने बताया कि आज 1पीपीआईयूसीडी, 5साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया, 6 माला एन, 2 आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली, और 69 कंडोम के पैकेट वितरित किए गए l

परिवार नियोजन के जनपद सलाहकार विनोद कुमार ने बताया कि परिवार नियोजन की जरूरत, नसबंदी से फायदे, सही उम्र में विवाह, बच्चों के जन्म में अंतर, नवदंपति के लिए उपयुक्त गर्भ निरोधक के प्रयोग एवं परिवार नियोजन के अन्य अस्थायी साधन अपनाने पर जोर देने के उद्देश्य से हर शुक्रवार को अंतराल दिवस मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य मातृ एवं शिशु मृत्यु-दर में कमी लाना है।

विनोद ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में फरवरी 2023 तक 3 पुरूष नसबंदी, 706 महिला नसबंदी, 9240 त्रैमासिक गर्म निरोधक इंजेक्शन अंतरा, 11754 पीपीआईयूसीडी,6880 आईयूसीडी और 29280 साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया का प्रयोग किया जा चुका है ।

 

बढ़पुर ब्लॉक के ग्राम बिलावलपुर की रहने वाली 24 वर्षीय साधना का प्रसव आज ही सिविल अस्पताल में हुआ । परिवार नियोजन काउंसलर अनीता ने उन्हें पीपीआईयूसीडी ( अस्थायी गर्भनिरोधक ) के बारे में बताया तो उन्होंने इसके फ़ायदे देखते हुए इसे लगवा लिया l

मोहल्ला नुन्हाई की रहने वाली तृप्ति ( 30 वर्ष) ने बताया कि एएनएम से अंतराल दिवस के बारे में जानकारी मिलने पर यहाँ आई, तो सभी साधनों के बारे में अच्छे से समझ आया | सभी साधनों में से मैंने छाया गर्भनिरोधक को चुना |

इस दौरान स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ आसमा बेगम, स्टॉफ नर्स प्रियंका यादव सहित लाभार्थी मौजूद रहे ।

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

× How can I help you?