Download App from

समय से परिवार नियोजन अपनाइए, अनचाहे गर्भ की चिंता से मुक्ति पाइए

जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर मनाया गया खुशहाल परिवार दिवस
सीएचसी कमालगंज में शिविर लगाकर दी गई महिला नसबंदी की सेवा
10 महिलाओं ने महिला नसबंदी को अपनाया
परिवार नियोजन संबंधी जागरुकता व समुदाय में गर्भनिरोधक साधनों की स्वीकार्यता बढ़ाने पर दिया गया जोर

फर्रुखाबाद ,आरोही टुडे न्यूज़
‘जीवन में भरो रंग, परिवार नियोजन के संग’ का सन्देश समुदाय में पहुँचाने हेतु गुरूवार को जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर खुशहाल परिवार दिवस मनाया गया, साथ ही सीएचसी कमालगंज में शिविर लगाकर महिला नसबंदी की सेवा भी दी गई l
इस दौरान जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर योग्य दम्पत्तियों और नव विवाहित जोड़ों को बास्केट ऑफ़ चॉइस से गर्भनिरोधक साधनों को अपनाने हेतु प्रेरित किया गया | इच्छुक दम्पत्तियों को उनके मन मुताबिक गर्भनिरोधक सेवाएं प्रदान की गयीं |

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी और परिवार कल्याण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ रंजन गौतम ने बताया कि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने में परिवार नियोजन सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है | खुशहाल परिवार दिवस के तहत प्रसव वाली उच्च जोखिम गर्भावस्था में चिन्हित महिलाएं, नव विवाहित दम्पति (जिनका विवाह एक वर्ष के अन्दर हुआ है) और वह दम्पति, जिनके दो या दो से अधिक बच्चे हैं, उन्हें परिवार नियोजन के प्रति जागरूक करते हुए विस्तार से जानकारी दी जाती है |
सीएचसी कमालगंज में प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ शोभित शाक्य के नेतृत्व में खुशहाल परिवार दिवस मनाया गया | इस मौके पर 10 महिलाओं को नसबंदी की सेवा कॉट संस्था की तरफ़ से स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ आशा अरोड़ा द्वारा प्रदान की गयी |
सीएचसी कमालगंज में मनाये गए खुशहाल परिवार दिवस में 4 त्रैमासिक गर्भनिरोधक इंजेक्शन अंतरा , 3 पीपीआईयूसीडी, 25 गर्भनिरोधक गोली माला-एन , 37 साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया, 65 ईसी पिल्स (आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली) और 250 कंडोम की सेवा लाभार्थियों को प्रदान की गयी |
डॉ शोभित ने बताया कि लाभार्थियों को नसबंदी व अन्य परिवार नियोजन सेवाओं से होने वाले लाभ की जानकारी दी गयी | दंपति को परिवार नियोजन के प्रति जागरूकता और स्वीकार्यता बढ़ाने के लिए शासन के निर्देश पर हर माह की 21 तारीख को खुशहाल दिवस मनाया जाता है | इस दिवस पर स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा लक्षित दंपत्ति की काउसंलिंग लोगों को उनके जरूरत के अनुसार परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध कराये जाते हैं |
मनचाहे गर्भनिरोधक साधन पाकर संतुष्ट हुए लाभार्थी
सीएचसी कमालगंज में आई लाभार्थी रेनू ने कहा कि मेरे चार बच्चे हैं और अब मैं गर्भ धारण नहीं चाहती, लेकिन नसबंदी कराने और दवा खाने से डर लगता है | गाँव की आशा के सहयोग से आज के इस कार्यक्रम में आई तो स्टाफ नर्स ने सभी साधनों के के बारे में जानकारी दी, जिसके बाद मैंने अंतरा इंजेक्शन चुना है | अनचाहे गर्भ से बचने के लिए मनमुताबिक साधन पाकर खुश हूँ |
वहीं सीएचसी पर आई लाभार्थी सोनी, काजल व सलमा ने मनचाहे गर्भनिरोधक साधन का लाभ पाकर प्रसन्नता जाहिर की |
फैमिली प्लानिंग लाजिस्टिक मैनेजर विनोद कुमार ने कहा कि खुशहाल परिवार दिवस में विभिन्न गर्भनिरोधक साधनों को अपनाने को लेकर भ्रांति भी दूर की जाती है | दो बच्चों के बीच तीन वर्ष का सुरक्षित अंतर रखने के लिए परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों की जानकारी दी जाती है | परिवार पूरा कर चुके योग्य दंपती को परिवार नियोजन के स्थाई साधन (नसबंदी) अपनाने की सलाह दी जाती है | लाभार्थियों को सभी साधन मुफ्त दिए जाते हैं |
इस दौरान बीसीपीएम हिरदेश, टीएसयू से परिवार नियोजन विशेषज्ञ रिजवान अली मौजूद रहे l

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल