Download App from

कोटे की जाँच के दौरान पूर्ति निरीक्षक के सामने हुई फायरिंग में 9 को गिरफ्तार कर न्यायालय भेजा गया

फर्रुखाबाद, आरोही टुडे न्यूज़

अभिषेक तिवारी की रिपोर्ट

अमृतपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत बीते दिन कोटे की जाँच होनें के दौरान पूर्ति निरीक्षक के सामने की फायरिंग हो गयी थी| जिसमे पुलिस नें दोनों तरफ से 53 लोगों के खिलाफ प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कर निशानेबाज खिलाड़ी सहित 9 को गिरफ्तार कर न्यायालय के लिये चालान कर दिया|
थाना क्षेत्र के ग्राम खुशाली नगला निवासी कोटेदार यादवेन्द्र सिंह पुत्र सुरेन्द्र सिंह यादव नें एफआईआर दर्ज करायी| जिसमे कहा कि कोटे की जाँच करनें पूर्ति निरीक्षक नेहा गुप्ता आयीं हुई थी| उसी दौरान ग्राम कुम्हरौर के प्रधान पति आनन्द विक्रम सिंह बिट्टू परमार अपने भाई पुष्पेन्द्र विक्रम सिंह उर्फ टीटू व आरेंद्र विक्रम सिंह उर्फ नीटू व 15-20 अज्ञात लोग आ गये| आरोपी असलहों से लैस होकर आये और गाली-गलौज करनें लगे| और उसके पिता पूर्व प्रधान सुरेन्द्र सिंह को मारनें की धमकी दी|इसी दौरान उनके साथ रामशंकर उर्फ अल्लू पुत्र गंगा सिंह व राजवीर पुत्र तेजराम, संतोष पुत्र
ओम, बृजेश पुत्र जागेश्वर ने अचानक हमला कर दिया| पथराव करनें लगे| उसी दौरान आनन्द विक्रम नें अचानक अपनी लाइसेंसी राइफल से जान से मारनें की नियत से कई राउंड फायर किये| वहीं दूसरे पक्ष से प्रधानपति व निशानें बाज खिलाड़ी आनन्द विक्रम सिंह ने पूर्व सपा विधान सभा अध्यक्ष सुरेद्र यादव, उनके पुत्र उमेन्द्र (कोटेदार), यादवेन्द्र व राम निवास के पुत्र शिवप्रताप, रामनिवास, शिवलाल उर्फ सोनू व 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया| जिसमे उन्होंने जानलेवा फायरिंग के आरोप लगाये|


दोनों पक्षों से 9 को किया गिरफ्तार
घटना में पुलिस नें जबाबी मुकदमा दर्ज कर निशानेंबाज आनन्द विक्रम सिंह उर्फ बिट्टू परमार, बृजेश पुत्र जागेश्वर निवासी पंचम नगला, रामवीर मिश्रा, छविरा व दूसरे पक्ष से यादवेन्द्र, सुरेन्द्र, शिववीर, देवेन्द्र यादव, सुरेन्द्र यादव को गिरफतार किया गया| मौके से पुलिस नें एक फारचूनर कार, एक 315 बोर रायफल व 16 जिंदा कारतूस, 3 खोखा 315 बोर, एक बंदूक 12 बोर डबल बैरग व 37 जिंदा कारतूस बरामद किये|
निशानेबाज प्रधान पति पर दर्ज है आधा दर्जन मुकदमें
निशाने बाज आनन्द विक्रम पर 2004 में हत्या के प्रयास का मुकदमा व 2009 में फिर कोतवाली फर्रुखाबाद में हत्या के प्रयास का मुकदमा पंजीकृत हुआ| इसके साथ ही 2017 में फिर कोतवाली फतेहगढ़ में हत्या के प्रयास का मुकदमा आनन्द विक्रम पर दर्ज किया गया| कुल मिलाकर निशानें बाज बिट्टू परमार पर कुल आधा दर्जन मामले दर्ज हैं|

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल