Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

Download App from

कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा तट पर हजारों गंगा भक्तो ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी

फर्रुखाबाद, आरोही टुडे न्यूज, कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा तट पांचाल घाट पर हजारों गंगा भक्तो ने गंगा में आस्था की डुबकी लगा कर पूजा अर्चना की। यहां दूरदराज के गंगा भक्त रविवार की रात से ही आने शुरू हो गए थे। जिन्होंने सुबह चार बजे से स्नान कर पुण्य कमाया। शास्त्रों के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान का विशेष महत्त्व है। सुरक्षा की दृष्टि से सिविल पुलिस के साथ फ्लड पीएसी भी तैनात रही। पुलिस के आलाधिकारी भी गंगा घाट पर पहुंच जायजा ले रहे हैं।

थाना कादरी गेट के पांचाल घाट गंगा तट पर कार्तिक पूर्णिमा का स्नान सोमवार सुबह तीन बजे से ही शुरू हो गया। रविवार शाम से ही मैनपुरी, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, हरदोई कन्नौज सहित कई जिले के लोगों का आना शुरू हो गया था। सुबह पांचाल घाट के उत्तरी व दक्षिणी घाट पर भारी भीड़ नजर आई।बच्चों, युवाओं, वृद्ध, महिलाओं के साथ हर उम्र के लोग मां गंगा के पावन जल में आस्था की डुबकी लगा रहे थे। महिलाएं स्नान के बाद धूपबत्ती लगाकर पुष्प, प्रसाद चढ़ाकर मां गंगा की पूजा अर्चना करती दिखी। गंगा पुत्रों को भी बड़ी संख्या में लोगों ने आटा, दाल,नमक की दक्षिणा दी।

शास्त्रों के अनुसार सनातन धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का विशेष महत्व है। इस तिथि को ब्रह्मा, विष्णु, शिव, अंगिरा और आदित्य आदि ने महा पुनीत पर्व प्रमाणित किया। इस दिन किए हुए स्नान, दान, होम, यज्ञ और उपासना आदि का अनंत फल प्राप्त होता है।गंगा स्नान और सायंकाल में दीपदान का विशेष महत्व है।

इसी पूर्णिमा के दिन सायंकाल भगवान का मत्स्यावतार हुआ था। इस कारण इसमें किए गए दान, जप आदि दस यज्ञों के समान फल प्रदान करता है। इस वर्ष कृतिका नक्षत्र होने से यह महा कार्तिकी बन गई है। रोहिणी नक्षत्र होने से रात्रि में इसका पुण्य फल और भी अधिक बढ़ जाएगा।सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस बल सक्रिय रहा। सीओ सिटी प्रदीप सिंह ने पांचाल घाट पर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों को एक्टिव रहकर अराजक तत्वों पर कड़ी निगाह बनाए रखने के निर्देश दिए। सीओ सिटी ने थाना प्रभारी कादरी गेट के साथ मोटर वोट में सवार होकर गंगा नदी में बैरी कैडिंग का जायजा लिया।

सीओ प्रदीप सिंह ने बताया कि फ्लड पीएसी के साथ स्थानीय गोताखोरों को भी तैनात किया गया है। घाटों पर सिविल ड्रेस में भी पुलिसकर्मी तैनात हैं। लोगों को चेतावनी झंडी के अंदर स्नान करने के कहा जा रहा है। रूट डायवर्जन का शत प्रतिशत पालन कराया जा रहा है। नियमों को तोड़ने वाले वाहन चालकों पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।प्रयास किया जा रहा है की श्रद्धालुओं को दिक्कत न हो।

पूरी कुशलता के साथ सम्पन्न हुआ गंगा स्नान-

पांचाल घाट पर कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के समय मोटर बोट पर सवार पीएसी के तैराक जवान घाट पर घूम घूम कर लोगो को वेरी केटिंग के अंदर रह कर स्नान करने की चेतावनी देते रहे। पुलिस की सक्रियता के चलते इस बर्ष किसी को डूबने नही दिया गया। गत बर्ष गंगा स्नान के समय आठ लोग डूब गए थे। इस बार सुरक्षा के कंड़े इंतजाम होने की बजह पांचाल घाट पर कोई अप्रिय घटना नही घटी। जिले में पांचाल घाट के अलावा श्रंगीरामपुर, में भी लोगो ने गंगा में डुबकी लगा कर श्रंगी ऋषि की पूजा अर्चना कर मानसिक शांति आत्मिक आनन्द की अनुभति की। यहां श्रंगी ऋषि की तप स्थली होने की बजह से मध्यप्रदेश,राजस्थान से भक्त आकर गंगा स्नान करते हैं। इसके अलावा फतेहगढ के किला घाट ,बरगदिया घाट व शमसाबाद के ढाईघाट तथा कम्पिल के अटेना घाट पर भी गंगा स्नान हुआ। इन घाटों पर भी गंगा भक्तो की भारी भीड़ रही।

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल

× How can I help you?