कानपुर देहात,आरोही टुडे संवाददाता

आज माउंटेन व्यू सिटी पब्लिक स्कूल मे विजयादशमी रामनवमी एवं नवरात्र का धार्मिक उत्सव एवं रामलीला का मंचन राम रावण युद्ध एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम की अद्वितीय छटा माउंटेन व्यू के बाल कलाकारों के द्वारा प्रस्तुत किया गया जिसमें राम जन्म से लेकर रावण वध तक के किरदारों का अभिनय मंचन किया गया।

इस अलौकिक धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का शुभारंभ स्कूल के संस्थापक दिनेश महाजन एवं डॉ पूनम गुप्ता के द्वारा कराया गया एवं रावण के पुतले पर तीर मार कर कार्यक्रम का समापन किया गया।

आपको बता दे कि बाल कलाकारों ने भगवान श्री राम के जन्म से लेकर रावण दहन तक कि सम्पूर्ण झाकियां प्रस्तुत की जिसमे राम का किरदार निभा रहे आदित्य, लक्ष्मण बने अमित, सीता बनी इस्मत, हनुमान बने अनस, रावण बने अरस्तू एवं वानर सेना का किरदार निभा रहे आदर्श, आयुष, मयंक रितेश आदि ने अपनी अद्भुत कलाकारी से सभी का मन मोह लिया।
आपको बताते चले कि
इस दिन लोग शस्त्र-पूजा करते हैं और नया कार्य प्रारम्भ करते हैं , ऐसा विश्वास है कि इस दिन जो कार्य आरम्भ किया जाता है उसमें विजय मिलती है। प्राचीन काल में राजा लोग इस दिन विजय की प्रार्थना कर रण-यात्रा के लिए प्रस्थान करते थे। इस दिन स्थान-स्थान पर मेले लगते हैं। रामलीला का आयोजन होता है। रावण का विशाल पुतला बनाकर उसे जलाया जाता है। दशहरा अथवा विजयदशमी भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाए अथवा दुर्गा पूजा के रूप में, दोनों ही रूपों में यह शक्ति-पूजा का पर्व है, शस्त्र पूजन की तिथि है। हर्ष और उल्लास तथा विजय का पर्व है। भारतीय संस्कृति वीरता की पूजक है, शौर्य की उपासक है। व्यक्ति और समाज के रक्त में वीरता प्रकट हो इसलिए दशहरे का उत्सव रखा गया है। दशहरा का पर्व दस प्रकार के पापों- काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, मत्सर, अहंकार, आलस्य, हिंसा और चोरी के परित्याग की सद्प्रेरणा प्रदान करता है। इस मौके पर स्कूल की प्रिंसिपल मीता चतुर्वेदी, अमित सिंह, प्रशांत सिंह, विशाल यादव, समरजीत यादव, अंकुर श्रीवास्तव आदि शिक्षक मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.